LYRIC

वक़्त करता जो वफ़ा
वक़्त करता जो वफ़ा
आप हमारे होते
हम भी औरों की तरह
हम भी औरों की तरह
आप को प्यारे होते
वक़्त करता जो वफ़ा

अपनी तक़दीर में पहले
ही कुछ तो गम है
अपनी तक़दीर में पहले
ही कुछ तो गम है
और कुछ आप की फितरत
में वफ़ा भी कम है
वरना जीती हुई बाज़ी
तो न हरे होते
वक़्त करता जो वफ़ा
आप हमारे होते
वक़्त करता जो वफ़ा

हम भी प्यासे है ये
साक़ी को बता भी न सके
हम भी प्यासे है ये साक़ी
को बता भी न सके
सामने जाम था और
जाम उठा भी न सके
काश गैरत इ महफ़िल
के न मरे होते
वक़्त करता जो वफ़ा
आप हमारे होते
वक़्त करता जो वफ़ा

दम घुटा जाता है साइन
में फिर भी ज़िंदा है
दम घुटा जाता है साइन
में फिर भी ज़िंदा है
तुम से क्या हम तो ज़िन्दगी
से भी शर्मिंदा है
मर ही जाते न जो
यादो के सहारे होते
वक़्त करता जो वफ़ा
आप हमारे होते
हम भी औरों की तरह
हम भी औरों की तरह
आप को प्यारे होते
वक़्त करता जो वफ़ा.

LYRIC INFORMATION

Composer Anandji Virji Shah | Kalyanji Virji Shah
Lyricist Indeevar (Shyamalal Babu Rai)
Cast Shashi Kapoor | Rajshree | Sanjay Khan | Helen | Mehmood | Achla Sachdev | Manmohan Krishan | Ali Mirajkar
Director Anandji Virji Shah | Kalyanji Virji Shah
Release date 31st December, 1967

VIDEO